यूपी 2017 विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान बीजेपी ने वादा किया था कि अगर राज्य में उनकी सरकार बनती है तो वे किसानों का कर्ज मांफ करेंगे। राज्य में बीजेपी की सरकार बनी और योगी आदित्य नाथ मुख्यमंत्री बने, बीजेपी ने अपना वादा निभाते हुए किसानों का कर्ज मांफ करने का ऐलान भी किया। लेकिन अब यूपी में बहुत जल्द ही किसानों को कर्जमाफी के सर्टिफिकेट बांटे जाने वाले हैं।

लेकिन क्या आप जानते है कि, इन सर्टिफिकेट्स को बांटने के लिए योगी सरकार 16 करोड़े रुपए खर्च करने जा रही है। इकोनॉमिक्स टाइम्स की ख़बर के मुताबिक, सोमवार(21 अगस्त) को चीफ सेक्रेटरी राजीव कुमार ने आदेशी जारी किया जिसमें कहा गया है कि यूपी सरकार 75 जिलों और 332 तेहसील में कैंप का आयोजन करेगी जिसमें किसानों को कर्जमाफी के सर्टिफिकेट बांटे जाएंगे।

यूपी सरकार 86 लाख किसानों का 36 करोड़ रुपए का कर्जमाफ कर रही है। ख़बरों के मुताबिक, चीफ सेक्रेटरी द्वारा जारी किए गए आदेश के अनुसार मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ 5 सितंबर से किसानों को कर्जमाफी सर्टिफिकेट बांटे जाएंगे। जिस कैंप में योगी आदित्य नाथ 5 हजार किसानों को सर्टिफिकेट बांटेंगे जिसमें 10 लाख रुपए का खर्चा होगा।

प्रत्येक तहसील में 2 हजार किसानों को सर्टिफिकेट बांटे जाएंगे जिसमें ढाई लाख रुपए का खर्चा आएगा। यूपी सरकार का कहना है कि कर्जमाफी की राशी की तुलना में कैंप में लगने वाली राशी बहुत ही मामूली सी है।

ख़बरों के मुताबिक, सूबे में किसानों को कर्जमाफी सर्टिफिकेट बांटने का काम पिछले हफ्ते लखनऊ से शुरु हो गया है जहां पर गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने 11 हजार किसानों को सर्टिफिकेट बांटे जिसमें 35 लाख रुपए का खर्चा हुआ था। बता दें कि, यूपी में किसानों का कर्जमाफ किए जाने के बाद देश के दूसरे राज्य में भी किसानों का कर्जामाफ करने की मांग जोरो पर उठने लगी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here