सुबह लगभग ६ बजकर ४० मिनट पर नागपुर-मुंबई दूरंतो एक्सप्रेस पटरी से उतर गई। ट्रेन के पांच डिब्बे पटरी से उतरे, घटना में कुछ लोगों के घायल होने की खबर भी है।

हादसा आलनगांव-वासिंद के बीच कल्याण के पास हुआ है। मौके पर  रेसक्यू टीम पहुंच चुकी है। हादसा सुबह 6 बजे के करीब हुआ। ज्यादातर लोग उस वक्त सो रहे थे।

इससे पहले यूपी में दो ट्रेन हादसे हुए थे। जिसमें 25 से ज्यादा लोगों की जान चली गई थी और 100 से ज्यादा लोग घायल हुए थे।

इसके चलते रेल मंत्री सुरेश प्रभु का इस्तीफा भी मांगा जा रहा था। प्रभु ने घटनाओं की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफे की पेशकश भी की थी। लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनको कुछ वक्त रुक जाने के लिए कहा शायद वो प्रभु के कार्यकाल में कुछ और रेलवे दुर्घटनाये देखने की चेष्टा रखते रहे होंगे ! उल्लेखनीय है की सिर्फ स्तीफ़े की पेशकश की गयी थी,दिया नहीं गया था, ना ही केंद्रीय नेतृत्व में किसी ने स्तीफे की मांग की थी !

केंद्र सरकार का लगभग हर जिम्मेदारी से भाग खड़ा होना और उसपर जुमलेबाजी करते रहने की प्रवित्ति देश के जान माल को भीषण रूप से छतिग्रष्त कर रही है ,जुमलेबाजी के इस दौर में भी उम्मीद है की एक दो बेहतर कदम भी लिए जायेंगे !

सूत्रों के मुताबिक यह भी कहा जा रहा है की अगले कैबिनेट बदलाव में नितिन गडकरी को रेल मंत्रालय दिया जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here