अपने फेसबुक पोस्ट के जरिए केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर जमकर निशाना साधा है। स्मृति ईरानी ने भारत छोड़ो आंदोलन की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर लोकसभा में सोनिया गांधी की ओर से दिए गए भाषण को लेकर पलटवार किया है।

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने फेसबुक पोस्ट पर लिखा कि, भारत छोड़ो आंदोलन जैसी देशव्यापी ऐतिहासिक घटना के बारे में हमें निष्पक्ष रहकर अपनी बात रखनी चाहिए थी, लेकिन कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का भाषण 2014 में मिली सत्ता की हार के अफसोस मनाने जैसा नजर आया। साथ ही उन्होंने लिखा कि सोनिया गांधी अपने पूरे भाषण में सिर्फ जवाहर लाल नेहरू के योगदान की बात करती रहीं, क्योंकि वो उनके परिवार से जुड़ी हुई हैं।

उन्होंने सुभाषचंद्र बोस और सरदार वल्लभभाई पटेल का नाम नहीं लिया। सोनिया गांधी का भाषण किसी चुनावी कैंपेन के जैसा था। साथ ही उन्होंने अपने फेसबुक पोस्ट में केंद्रीय मंत्री स्मृति ने पीए मोदी के भाषण की जमकर तारीफ की।

उन्होंने कहा कि पीएम मोदी के भाषण में एक प्रगतिशीलता नजर आई। साथ ही उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में ‘भारत छोड़ो आंदोलन’ में महात्मा गांधी की ओर से ली गई ‘करो या मरो’ की शपथ को अपनाने के लिए कहा है। प्रधानमंत्री मोदी ने इस दौरान कहा कि ‘करेंगे और करके रहेंगे’ का ऐलान किया।

आपको बता दें कि, इससे पहले बुधवार(9 अगस्त) को भारत छोड़ो आंदोलन की 75वीं वर्षगांठ पर संसद में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने बिना नाम लिए मोदी सरकार और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ(RSS) पर जमकर निशाना साधा। सोनिया गांधी ने कहा कि आजादी के समय जवाहरलाल नेहरू ने जेल में सबसे ज्यादा समय बिताया था।

बता दें कि, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी का यह फेसबुक पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है वदीं कुछ सोशल मीडिया यूजर्स तरह-तरह की प्रतिक्रिया भी दे रहें है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here