केंद्र सरकार ने बुधवार को घुटनों के मरीजों को बड़ी सौगात देते हुए विभिन्न श्रेणी के कृत्रिम घुटनों की कीमत में 59 से 69 फीसदी तक की कटौती की घोषणा की।

इसके साथ ही अब मरीज लाखों रुपये की बजाय हजारों रुपये में घुटने की दर्द से निजात पा सकेंगे। केंद्रीय रसायन एवं उवर्रक मंत्री अनंत कुमार ने सरकार के फैसले की जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा लालकिले की प्राचीर से मंगलवार को सस्ती दवाओं की उपलब्धता की घोषणा के तुरंत बाद यह कदम उठाया गया है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कृत्रिम घुटने को दवा की श्रेणी में रखा है। एनपीपीए ने दवा मूल्य नियंत्रण आदेश के तहत कृत्रिम घुटने की कीमतों को नियंत्रित करने का आदेश जारी किया है, जो तत्काल प्रभाव से लागू हो गया है।

फैसले से कितने कम हुए दाम

घुटना प्रत्यरोपण के प्रकार         पहले              अब  

1.कोबाल्ट क्रोमियम              1,58,324      54,720
(सबसे अधिक इस्तेमाल)

2.विशेष धातु से जैसे टाइटेनियम
और ऑक्साइड जीरकोनियम से बने 2,49,251 / 76,600

3. उच्च लचीला प्रत्यारोपण            1,81,728 /56,490

4. रीविजन इम्प्लांट                      2,76,869 /1,13,950

कैंसर और टीबी के मरीजों का विशेष प्रत्यरोपण के लिए एनपीपीए ने अधिकतम 1,13,950 रुपये तय किए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here