भारत के अच्छे कॉलेजों से पढ़ाई करने के बाद अच्छी सैलरी पैकेज की चाहत में विदेशों में शिफ्ट हो जाने वाले युवाओं के सामने बीजेपी सांसद रमेश पोखरियाल निशंक की बेटी मिसाल पेश कर रही हैं. हरिद्वार से सांसद और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल की बेटी श्रेयशी निशंक ने विदेश में लाखों रुपए की सैलरी पैकेज को ठुकराकर भारतीय सेना में शामिल होकर राष्ट्रसेवा करने का फैसला लिया है. डॉक्टर श्रेयशी निशंक ने शनिवार को विधिवत रूप से सेना में बतौर कैप्टन आर्मी मेडिकल कोर में ज्वाइन किया है। श्रेयशी अब रुड़की स्थित सेना के अस्पताल सेवाएं देंगी।

सेना के अस्पताल में आयोजित एक समारोह में पिता रमेश पोखरियाल ने बेटी श्रेयशी को सेना का स्टार लगाकर कैप्टन के रूप में सम्मानित किया। इस खास पल की तस्वीर को रमेश पोखरियाल ने अपने फेसबुक और ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया है. साथ ही लिखा है, ‘साथियों, मैं बहुत गौरवान्वित महसूस कर रहा हूं आप सब से यह बात साझा करते हुए की मेरे पुत्री डॉ. श्रेयशी निशंक ने उत्तराखण्ड की सैन्य परंपरा को जारी रखते हुए विधिवत रूप से सेना में बतौर अफसर आर्मी मेडिकल कोर में जॉइन कर लिया है.’

अपने अगले पोस्ट में रमेश पोखरियाल ने लिखा है, ‘मुझे खुशी है कि श्रेयशी ने हिमालयन मेडिकल कोलज से MBBS की पढ़ाई पूरी कर सेना में जाकर देश की सेवा करने का निर्णय लिया. आज बेटियां किसी भी क्षेत्र में पुरुषों से कम नहीं हैं और हमारा फर्ज बनता हैं कि हम अपनी बेटियों को बेटों के बराबर शिक्षा दिलवाने का काम करें.’

स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मेडिकल की पढ़ाई पूरी करने के बाद श्रेयशी के पास विदेश जाकर वहां के अस्पतालों में नौकरी करने का भी अवसर था, लेकिन उसने इसे ठुकरा दिया. श्रेयशी कुछ दिनों तक विदेश में डॉक्टरी की प्रैक्टिस भी कर चुकी हैं, लेकिन उनका मन वहां नहीं लगा और वह देश लौटकर सेना में शामिल हो गई हैं.

इस ऐतिहासिक मौके पर श्रेयशी ने पिता की लिखी कविताएं मंच से गाकर उन्हें शुक्रिया किया. साथ देश के हर पिता से अनुरोध किया कि वे भी बिना किसी भेदभाव के बेटियों की पढ़ाई पूरी कराएं, ताकि वह भी उनका और समाज का नाम रोशन कर सकें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here